stories

get ready to read inspirational stories

I will add inspirational stories here on regular basis. They will definitely help you in being a better person.

Hindi Stories

Hindi Story 1 – कीर्तन का महत्त्व

एक आदमी सुबह सवेरे उठा साफ कपडे पहने और सत्संग घर की तरफ चल दिया ताकि सत्संग का आनंद प्राप्त  कर सके1 चलते चलते रास्ते में ठोकर खाकर गिर पढ़ा, कपडे कीचड से सन  गए1 वापस घर  आया, नहा धोकर कपडे बदलकर वापस सत्संग की तरफ रवाना हुआ1 ठीक उसी जगह पहुँचने पर ठोकर लगी …

Hindi Story 1 – कीर्तन का महत्त्व Read More »

Hindi Story 2 – पुण्य धर्म

एक बार की बात है एक बहुत ही पुण्य व्यक्ति अपने परिवार सहित तीर्थ के लिए निकला.. कई कोस दूर जाने के बाद पूरे परिवार को प्यास लगने लगी, आस पास कहीं पानी नहीं दिखायी पड़ रहा था। उसके बच्चे प्यास से व्याकुल होने लगे.. समझ नहीं आ रहा था कि वो क्या करे… अपने …

Hindi Story 2 – पुण्य धर्म Read More »

Hindi Story 3 – सत्संग का प्रभाव

एक धनी सेठ के सात बेटे थे। छः का विवाह हो चुका था। सातवीं बहू आयी, वह सत्संगी माँ–बाप की बेटी थी। बचपन से ही सत्संग में जाने से सत्संग के सुसंस्कार उसमें गहरे उतरे हुए थे। छोटी बहू ने देखा कि घर का सारा काम तो नौकर चाकर करते हैं, जेठानियाँ केवल खाना बनाती …

Hindi Story 3 – सत्संग का प्रभाव Read More »

Hindi Story 4 – साड़ी के टुकड़े

एक नगर में एक जुलाहा रहता था। वह स्वभाव से अत्यंत शांत, नम्र तथा मिलनसार था। उसे क्रोध तो कभी आता ही नहीं था। एक बार कुछ लड़कों को शरारत सूझी। वे सब उस जुलाहे के पास यह सोचकर पहुंचे कि देखें इसे गुस्सा कैसे नहीं आता? उन में एक लड़का धनवान माता–पिता का पुत्र …

Hindi Story 4 – साड़ी के टुकड़े Read More »

Hindi Story 5 – राम नाम का महत्व

*महादेव जी को एक बार बिना कारण के किसी को प्रणाम करते देखकर पार्वती जी ने पूछा आप किसको प्रणाम करते रहते हैं?* शिव जी पार्वती जी से कहते हैं कि हे देवी ! जो व्यक्ति एक बार *राम* कहता है उसे मैं तीन बार प्रणाम करता हूँ। *पार्वती जी ने एक बार शिव जी …

Hindi Story 5 – राम नाम का महत्व Read More »

Hindi Story 6 – सच्ची शिक्षा

सन्तोष मिश्रा जी के यहाँ पहला लड़का हुआ तो पत्नी ने कहा, “बच्चे को गुरुकुल में शिक्षा दिलवाते है, मैं सोच रही हूँ कि गुरुकुल में शिक्षा देकर उसे धर्म ज्ञाता पंडित योगी बनाऊंगी।” सन्तोष जी ने पत्नी से कहा, “पाण्डित्य पूर्ण योगी बना कर इसे भूखा मारना है क्या !! मैं इसे बड़ा अफसर …

Hindi Story 6 – सच्ची शिक्षा Read More »

Hindi Story 7 – राम नाम की महिमा

एक महात्माजी रात्रि के समय में ‘श्रीराम’ नाम का जाप करते हुए अपनी मस्ती में चले जा रहे थे। जाप करते हुए वे एक गहन जंगल से गुजर रहे थे। विरक्त होने के कारण वे महात्मा बार-बार देशाटन करते रहते थे। वे किसी एक स्थान में अधिक समय नहीं रहते थे। वे ईश्वर नाम प्रेमी …

Hindi Story 7 – राम नाम की महिमा Read More »

Hindi Story 8 – भगवान पर भरोसा

एक पुरानी सी इमारत में एक वैद्यजी का मकान था। पिछले हिस्से में रहते थे और अगले हिस्से में दवाख़ाना खोल रखा था। उनकी पत्नी की आदत थी कि दवाख़ाना खोलने से पहले उस दिन के लिए आवश्यक सामान एक चिठ्ठी में लिख कर दे देती थी। वैद्यजी गद्दी पर बैठकर पहले भगवान का नाम …

Hindi Story 8 – भगवान पर भरोसा Read More »

Hindi Story 9 – ग़ुस्से पर नियंत्रण

एक वकील द्वारा सुनाया हुआ एक ह्यदयस्पर्शी किस्सा। “मै अपने चेंबर में बैठा हुआ था, एक आदमी दनदनाता हुआ अन्दर घुसा। हाथ में कागजों का बंडल, धूप में काला हुआ चेहरा, बढ़ी हुई दाढ़ी, सफेद कपड़े जिनमें पांयचों के पास मिट्टी लगी थी। उसने कहा, “उसके पूरे फ्लैट पर स्टे लगाना है। बताइए, क्या क्या …

Hindi Story 9 – ग़ुस्से पर नियंत्रण Read More »

Hindi Story 10 – सत्संग की महिमा

एक बार वेदव्यासजी महाराज कहीं जा रहे थे। रास्ते में उन्होंने देखा कि एक कीड़ा बड़ी तेजी से सड़क पार कर रहा था। वेदव्यासजी ने अपनी योगशक्ति देते हुए उससे पूछाः “तू इतनी जल्दी सड़क क्यों पार कर रहा है? क्या तुझे किसी काम से जाना है? तू तो नाली का कीड़ा है। इस नाली …

Hindi Story 10 – सत्संग की महिमा Read More »

Hindi Story 11 – भगवान से सम्बंध

एक संत थे वे भगवान राम को मानते थे. कहते है यदि भगवान् से निकट आना है तो उनसे कोई रिश्ता जोड़ लो. जहाँ जीवन में कमी है वही ठाकुर जी को बैठा दो, वे जरुर उस सम्बन्ध को निभायेगे. इसी तरह संत भी भगवान् राम को अपना शिष्य मानते थे और शिष्य पुत्र के …

Hindi Story 11 – भगवान से सम्बंध Read More »

Hindi Story 12 – मोर पंख

मयूर पंख के बारे में जाने आज सब वनवास के दौरान माता सीताजी को पानी की प्यास लगी, तभी श्रीरामजी ने चारों ओर देखा, तो उनको दूर-दूर तक जंगल ही जंगल दिख रहा था. कुदरत से प्रार्थना करी ,,, हे जंगल जी ! आसपास जहाँ कहीं पानी हो, वहाँ जाने का मार्ग कृपया सुझाईये. तभी …

Hindi Story 12 – मोर पंख Read More »

Hindi Story 13 – सफल जीवन

एक बेटे ने पिता से पूछा – पापा ये ‘सफल जीवन’ क्या होता है ? पिता, बेटे को पतंग उड़ाने ले गए।बेटा पिता को ध्यान से पतंग उड़ाते देख रहा था। थोड़ी देर बाद बेटा बोला।पापा.. ये धागे की वजह से पतंग और ऊपर नहीं जा पा रही है, क्या हम इसे तोड़ दें।ये और …

Hindi Story 13 – सफल जीवन Read More »

Hindi Story 14 – अटल विश्वास

एक भक्त इमली के वृक्ष के नीचे बैठकर भगवान् का भजन कर रहा था। एक दिन वहाँ नारद जी महाराज आ गये। उस भक्त ने नारद जी से कहा कि आप इतनी कृपा करें कि जब भगवान के पास जाये तब उनसे पूछ लें कि वे मुझे कब मिलेंगे ? नारद जी भगवान के पास …

Hindi Story 14 – अटल विश्वास Read More »

Hindi Story 15 – भक्त मीर माधव

काफी समय पहले की बात हैं, मुल्तान (पंजाब) का रहने वाला एक ब्राह्मण उत्तर भारत में आकर बस गया। जिस घर में वह रहता था, उसकी ऊपरी मंजिल में कोई मुग़ल-दरबारी रहता था। प्रातः नित्य ऐसा संयोग बन जाता कि, जिस समय ब्राह्मण नीचे गीतगोविन्द के पद गाया करता। उसी समय मुग़ल ऊपर से उतरकर …

Hindi Story 15 – भक्त मीर माधव Read More »

Hindi Story 16 – एक प्रेरणादायी कथा

ऋषिकेश में गंगा जी के किनारे एक संत रहा करते थे वह जन्मांध थे. उनका नित्य नियम था कि वह शाम के समय गगन चुंबी पहाड़ों में भृमण करने के लिये निकल जाया करते थे और राम नाम का संकीर्तन करते जाते. एक दिन उनके एक शिष्य ने उनसे पूछा – गुरु महाराज आप हर …

Hindi Story 16 – एक प्रेरणादायी कथा Read More »

Hindi Story 17 – अच्छाई पलट पलट कर आती है

ब्रिटेन के स्कॉटलैंड में फ्लेमिंग नाम का एक गरीब किसान था। एक दिन वह अपने खेत पर काम कर रहा था। अचानक पास में से किसी के चीखने की आवाज सुनाई पड़ी । किसान ने अपना साजो सामान व औजार फेंका और तेजी से आवाज की तरफ लपका। आवाज की दिशा में जाने पर उसने …

Hindi Story 17 – अच्छाई पलट पलट कर आती है Read More »

Hindi Story 18 – प्रभु का भरोसा

अभिमन्यु की पत्नी उत्तरा महल में झाड़ू लगा रही थी तो द्रौपदी उसके समीप गई उसके सिर पर प्यार से हाथ फेरते हुए बोली, “पुत्री भविष्य में कभी तुम पर दुख, पीड़ा या घोर से घोर विपत्ति भी आए तो कभी अपने किसी नाते-रिश्तेदार की शरण में मत जाना सीधे भगवान की शरण में जाना …

Hindi Story 18 – प्रभु का भरोसा Read More »

Hindi Story 19 – प्रारब्ध (पूर्व में किया जाने वाला कार्य)

एक व्यक्ति हमेशा ईश्वर के नाम का जाप किया करता था। धीरे धीरे वह काफी बुजुर्ग हो चला था इसीलिए एक कमरे में ही पड़ा रहता था। जब भी उसे शौच-स्नान आदि के लिये जाना होता तो वह अपने बेटे को आवाज लगाता था और बेटा उसे ले जाता। धीरे धीरे कुछ दिन बाद बेटा …

Hindi Story 19 – प्रारब्ध (पूर्व में किया जाने वाला कार्य) Read More »

Hindi Story 20 -इन्सान और इंसानियत

गाजियाबाद में एक चर्चित दूकान पर लस्सी का ऑर्डर देकर हम सब दोस्त-यार आराम से बैठकर एक दूसरे की खिंचाई और हंसी-मजाक में लगे ही थे कि एक लगभग 70-75 साल की बुजुर्ग स्त्री पैसे मांगते हुए मेरे सामने हाथ फैलाकर खड़ी हो गई। उनकी कमर झुकी हुई थी, चेहरे की झुर्रियों में भूख तैर …

Hindi Story 20 -इन्सान और इंसानियत Read More »

Hindi Story 21 – आलसी का भला कोई नहीं कर सकता

किसी गांव में एक ब्राह्मण रहा करता था| वह बड़ा भला आदमी था, लेकिन साथ ही काम को टाला करता था| वह यह मानकर चलता था कि जो कुछ होता है, भाग्य से होता है, वह अपने हाथ-पैर नहीं हिलाता था| वह बहुत आलसी था| एक दिन एक साधु उसके घर आये| ब्राह्मण और उसकी …

Hindi Story 21 – आलसी का भला कोई नहीं कर सकता Read More »

Hindi Story 22 – मौन की महत्त्वता

एक मछलीमार कांटा डाले तालाब के किनारे बैठा था। काफी समय बाद भी कोई मछली कांटे में नहीं फँसी, ना ही कोई हलचल हुई तो वह सोचने लगा… कहीं ऐसा तो नहीं कि मैने कांटा गलत जगह डाला है, यहाँ कोई मछली ही न हो !उसने तालाब में झाँका तो देखा कि उसके कांटे के …

Hindi Story 22 – मौन की महत्त्वता Read More »

Hindi Story 23 – भक्तों की सेवा का फल

एक सेठ के पास एक व्यक्ति काम करता था। सेठ उस व्यक्ति पर बहुत विश्वास करता था जो भी जरुरी काम हो वह सेठ हमेशा उसी व्यक्ति से कहता था।.वो व्यक्ति भगवान शिव का बहुत बड़ा भक्त था वह सदा भगवान के चिंतन भजन कीर्तन स्मरण सत्संग आदि का लाभ लेता रहता था।.एक दिन उस …

Hindi Story 23 – भक्तों की सेवा का फल Read More »

Hindi Story 24 -अद्भुत न्याय

अमेरिका में एक पंद्रह साल का लड़का रहता था।स्टोर से चोरी करता हुआ पकड़ा गया, पकड़े जाने पर गार्ड की गिरफ्त से भागने की कोशिश में स्टोर का एक शेल्फ भी टूट गया। जज ने जुर्म सुना और लड़के से पूछा-“तुमने सचमुच ही कुछ चुराया था”? क्याचुरायाथा? “#ब्रैडऔरपनीरकापैकेट”,लड़के ने नीचे नज़रें कर के जवाब दिया। …

Hindi Story 24 -अद्भुत न्याय Read More »

Hindi Story 25 -भाव के भूखे भगवन

प्रीतम और उसके पिताजी सरकारी नौकरी करते थे ।दोनों एक ही दफ्तर में काम करते थे , वह लोग अहमदाबाद में रहते थे ।अहमदाबाद से उन दोनों बाप बेटे का तबादला होकर बनारस में हो गया ।अब उन लोगों को घर बदलना था उन्होंने सारा सामान पहले ही बनारस भेज दिया। लेकिन उनका पूरा परिवार …

Hindi Story 25 -भाव के भूखे भगवन Read More »

Hindi Story 26 – भीष्म और जटायु — इच्छामृत्यु

अंतिम सांस गिन रहे जटायु ने कहा कि मुझे पता था कि मैं रावण से नही जीत सकता लेकिन तो भी मैं लड़ा ..यदि मैं नही लड़ता तो आने वाली पीढियां मुझे कायर कहती जब रावण ने जटायु के दोनों पंख काट डाले… तो काल आया और जैसे ही काल आया …तो गिद्धराज जटायु ने …

Hindi Story 26 – भीष्म और जटायु — इच्छामृत्यु Read More »

Hindi Story 27 – आन्तरिक बल

-नाराजगी और व्यवहार -नाराज़गी पालना ऐसा है मानो एक व्यक्‍ति खुद के गाल पर तमाचा मारता है और उम्मीद करता है कि दूसरे को दर्द होगा।  -परिवार के जिस सदस्य से आपकी नाराज़गी है, उस व्यक्‍ति को शायद आपकी नाराज़गी के बारे में पता ही न हो । -किसी के शब्दो और कार्यो की अपेक्षा …

Hindi Story 27 – आन्तरिक बल Read More »

Hindi Story 28 -क्या भगवन भोग ग्रहण करते हैं

लोग पूछते हैं,” क्या भगवान भोग ग्रहण करते हैं,खाते हैं??” “क्या भगवान हमारे द्वारा चढ़ाया गया भोग खाते हैं ? यदि खाते हैं , तो वह वस्तु समाप्त क्यों नहीं हो जाती और यदि नहीं खाते हैं , तो भोग लगाने का क्या लाभ ?” एक लड़के ने पाठ के बीच में अपने गुरु से …

Hindi Story 28 -क्या भगवन भोग ग्रहण करते हैं Read More »

Hindi Story 29 -प्रभु से प्रभु को मांग लो

एक राजा ने यह ऐलान करवा दिया कि कल सुबह जब मेरे महल का मुख्य दरवाज़ा खोला जायेगा तब जिस शख़्स ने भी महल में जिस चीज़ को हाथ लगा दिया वह चीज़ उसकी हो जाएगी।इस ऐलान को सुनकर सब लोग आपस में बातचीत करने लगे कि मैं तो सबसे क़ीमती चीज़ को हाथ लगाऊंगा।कुछ …

Hindi Story 29 -प्रभु से प्रभु को मांग लो Read More »

Hindi story 30 -मन रुपी भूत

मन के अनुकरणीय नेक विचार एक आदमी ने एक भूत पकड़ लिया और उसे बेचने शहर गया , संयोगवश उसकी मुलाकात एक सेठ से हुई।सेठ ने उससे पूछा – भाई यह क्या है?उसने जवाब दिया कि यह एक भूत है। इसमें अपार बल है कितना भी कठिन कार्य क्यों न हो यह एक पल में …

Hindi story 30 -मन रुपी भूत Read More »

Hindi Story 31 – कृष्ण नाम का प्रभाव

कृष्ण नाम की महिमा ………. एक गाँव में एक गड़रिया के पास बहुत सारी बकरियाँ थी वह बकरियों का दूध बेचकर ही अपना गुजारा करता था। एक दिन उसके गाँव में बहुत से महात्मा आकर यज्ञ कर रहे थे और वह वृक्षों के पत्तों पर चन्दन से कृष्ण-कृष्ण का नाम लिखकर पूजा कर रहे थे। …

Hindi Story 31 – कृष्ण नाम का प्रभाव Read More »

Hindi Story 32 – प्रभु प्रेम

. 🌹 प्रभु प्रेम 🌹 उड़ीसा में बैंगन बेचनेवाले की एक बालिका थी | दुनियाकी दृष्टि से उसमें कोई अच्छाई नहीं थी | न धन था, न रूप | किन्तु दुनिया की दृष्टिसे नगण्य उस बालिका को संत जयदेव गोस्वामी जी का पद *गीत गोविंदम* बहुत ही भाता था | वह दिन-रात उसको गुनगुनाती रहती …

Hindi Story 32 – प्रभु प्रेम Read More »

Hindi Story 33 – विश्वास (believe) तथा विश्वास (trust) में अंतर

एक बार, दो बहुमंजिली इमारतों के बीच, बंधी हुई एक तार पर लंबा सा बाँस पकड़े, एक नट चल रहा था । उसने अपने कन्धे पर अपना बेटा बैठा रखा था । सैंकड़ों, हज़ारों लोग दम साधे देख रहे थे। सधे कदमों से, तेज हवा से जूझते हुए, अपनी और अपने बेटे की ज़िंदगी दाँव …

Hindi Story 33 – विश्वास (believe) तथा विश्वास (trust) में अंतर Read More »

Hindi Story 34 – बंदर चाल

एक बार कुछ बंदरों को एक बड़े से पिंजरे में डाला गया और वहां पर एक सीढी लगाई गई| सीढी के ऊपरी भाग पर कुछ केले लटका दिए गए|उन केलों को खाने के लिए एक बन्दर सीढी के पास पहुंचा| जैसे ही वह बन्दर सीढी पर चढ़ने लगा, उस पर बहुत सारा ठंडा पानी गिरा …

Hindi Story 34 – बंदर चाल Read More »

Hindi Story 35 – प्रेम

एक बार एक पुत्र अपने पिता से रूठ कर घर छोड़ कर दूर चला गया और फिर इधर उधर यूँही भटकता रहा। दिन बीते, महीने बीते और साल बीत गए | एक दिन वह बीमार पड़ गया | अपनी झोपडी में अकेले पड़े उसे अपने पिता के प्रेम की याद आई कि कैसे उसके पिता …

Hindi Story 35 – प्रेम Read More »

Hindi Story 36 – नाम सुमिरन

हम सभी को पता है कि मिश्री मीठी होती है। आप मुँह मे मिश्री डालकर चाहे घूमे, चाहे बैठ जाये, चाहे लेट जाएँ। पर जब तक मुँह मे मिश्री है तब तक मुँह मीठा रहेगा जी। इसी प्रकार सुमिरन है। जब हम चलते-फिरते, उठते-बैठते, खाते-पीते, यानि हम जिस स्थिति मे भी हो, सुमिरन करते रहेंगे, …

Hindi Story 36 – नाम सुमिरन Read More »

Hindi Story 37 – भक्त और भगवान का सम्बंध

.एक बार की बात है एक संत जग्गनाथ पूरी से मथुरा की ओर आ रहे थे उनके पास बड़े सुंदर ठाकुर जी थे । वे संत उन ठाकुर जी को हमेशा साथ ही लिए रहते थे और बड़े प्रेम से उनकी पूजा अर्चना कर लाड लड़ाया करते थे । ट्रेन से यात्रा करते समय बाबा …

Hindi Story 37 – भक्त और भगवान का सम्बंध Read More »

Hindi Story 38 – प्रभु का हथियार

एक संत जो एक शहर के बस स्टैंड के पास एक वृक्ष की छाया में बैठकर माला फेर रहा था। एक अंग्रेज बस से उतरा और बाबा के पास जाकर बोला ये आपके हाथ में क्या है? बाबा ने अंग्रेज के कंधे पर बन्दुक देखी और पूछा: ये क्या है? अंग्रेज ने कहा ये मेरा …

Hindi Story 38 – प्रभु का हथियार Read More »

Hindi Story 39 -प्रभु का धन्यवाद करो

एक निर्माणाधीन भवन की सातवीं मंजिल से ठेकेदार ने नीचे काम करने वाले मजदूर को आवाज दी।निर्माण कार्य की तेज आवाज के कारण मजदूर सुन न सका कि उसका ठेकेदार उसे आवाज दे रहा है। ठेकेदार ने उसका ध्यान आकर्षित करने के लिए एक 1 रुपये का सिक्का नीचे फेंका जो ठीक मजदूर के सामने …

Hindi Story 39 -प्रभु का धन्यवाद करो Read More »

Hindi Story 40 – बिहारी जी का चमत्कार

वृंदावन मे बिहार से एक परिवार आकर रहने लगा.. परिवार मे केवल दो सदस्य थे-राजू और उसकी पत्नी। राजू वृंदावन मे रिक्शा चलाकर अपना जीवन यापन करता था और रोज बिहारी जी की शयन आरती मे जाता था… पर जिंदगी की भागम भाग मे धीरे-धीरे उसे बिहारी जी के दर्शन का सौभाग्य ना मिलता। हरि …

Hindi Story 40 – बिहारी जी का चमत्कार Read More »

Hindi Story 41 – क्यों कोसता है ख़ुद को

संतों की एक सभा चल रही थी… किसी ने एक दिन एक घड़े में गंगाजल भरकर वहां रखवा दिया ताकि संत जन जब प्यास लगे तो गंगाजल पी सकें… संतों की उस सभा के बाहर एक व्यक्ति खड़ा था. उसने गंगाजल से भरे घड़े को देखा तो उसे तरह-तरह के विचार आने लगे…वह सोचने लगा- …

Hindi Story 41 – क्यों कोसता है ख़ुद को Read More »

Hindi Story 42 – बरसाने के संत की कथा

एक संत बरसाना में रहते थे और हर रोज सुबह उठकर यमुना जी में स्नान करके राधा जी के दर्शन करने जाया करते थे यह नियम हर रोज का था। जब तक राधा रानी के दर्शन नहीं कर लेते थे,तब तक जल भी ग्रहण नहीं करते थे। दर्शन करते करते तकरीबन उनकी ऊम्र अस्सी वर्ष …

Hindi Story 42 – बरसाने के संत की कथा Read More »

Hindi Story 43 -भक्त और भगवन का सम्बन्ध

श्री करमानंद जी – ये अपने भावपूर्ण भजन गायन से निरंतर प्रभु की सेवा किया करते थे. इनका भजन गायन इतना भावपूर्ण होता था कि पत्थर-हृदय भी पिघल जाता था. ज्यादा दिनों तक इनको गृहस्थी रास नहीं आयी और ये सब कुछ छोड़कर निकल पड़े. उन्होंने केवल दो चीज़ें साथ में ली थीं- एक छड़ी …

Hindi Story 43 -भक्त और भगवन का सम्बन्ध Read More »

Hindi story 44 – ईश्वर पर भरोसा

एक राजा बहुत दिनों से पुत्र की प्राप्ति के लिए आशा लगाए बैठा था लेकिन पुत्र नहीं हुआ। उसके सलाहकारों ने तांत्रिकों से सहयोग लेने को कहा सुझाव मिला कि किसी बच्चे की बलि दे दी जाए तो पुत्र प्राप्ति हो जायेगी राजा ने राज्य में ढिंढोरा पिटवाया कि जो अपना बच्चा देगा,उसे बहुत सारा …

Hindi story 44 – ईश्वर पर भरोसा Read More »

Hindi Story 45 -सच्चे संत की पहचान

एक हसीद फकीर के जीवन में उल्लेख है कि एक सुबह वह अपने झोपड़े के बाहर खड़ा हुआ और पहला आदमी जो रास्ते पर आया, उसने उसे भीतर बुलाया। और उस आदमी से कहा कि मेरे प्यारे, एक छोटा सा सवाल है, उसका जवाब दे दो, और फिर जाओ। सवाल यह है कि अगर रास्ते …

Hindi Story 45 -सच्चे संत की पहचान Read More »

English Stories

English Story 2 – Ears

“Can I see my baby?” the happy new mother asked. When the bundle was nestled in her arms and she moved the fold of cloh to look upon his tiny face, she gasped. The doctor turned quickly and looked out the tall hospital window. The baby had been born without ears. Time proved that the …

English Story 2 – Ears Read More »

English Story:6 HE NEEDED ME

A nurse escorted a tired, anxious young man to the bedside of an elderly man “Your son is here,” she whispered to the patient. She had to repeat the words several times before the patient’s eyes opened. He was heavily sedated because of the pain of his heart attack and he dimly saw the young …

English Story:6 HE NEEDED ME Read More »